Why was Kumar Vishwas being ignored for Rajya Sabha ticket?

आम आदमी पार्टी के संस्थापकों में से एक रहे Kumar Vishwas को राज्‍यसभा चुनाव के लिए टिकट नहीं दिया है। इस मुद्दे पर पहले से ही आम आदमी पार्टी में बगावत की स्थिति थी। आम आदमी पार्टी ने राज्यसभा चुनाव के लिए जिन उम्मीदवारों के नाम पर मोहर लगाई है, उनमे एनडी गुप्‍ता, संजीव गुप्‍ता और संजय सिंह के नाम शामिल  हैं। यहाँ पर सवाल उठता है कि कभी अरविन्द केजरीवाल के प्रिय रहे Kumar Vishwas को टिकट क्यों नहीं मिला, तो इसके यह कारन हैं।




दरअसल Kumar Vishwas कभी भी भाजपा का विरोध नहीं करते। उनके बारे में कहा जाता है कि आगर वो भाजपा समर्थक नहीं हैं तो वो भाजपा विरोधी भी नहीं हैं। पिछले कुछ सम्य से तो कई मुद्दों पर Kumar Vishwas ने कहीं न कहीं अपने बयानों में भाजपा का समर्थन तक भी किया है। आम आदमी पार्टी के सदस्य अमानतुल्ला खां ने तो Kumar Vishwas पर भाजपा और आरएसएस का एजेंट होने का आरोप तक लगाया था। इस सब के बाद पार्टी का एक बड़ा खेमा उनका विरोधी है। तो सीधी सी बात है कि पार्टी अपने इस बड़े खेमे को नाराज़ नहीं करना चाहेगी।

इसका दूसरा बड़ा कारन यह भी है कि अरविन्द केजरीवाल Kumar Vishwas के गुट को अपने ऊपर हावी नहीं होना देने चाहते। Kumar Vishwas शुरू से ही स्वतंत्र दृष्टिकोण वाले रहे हैं। कई मुद्दों पर उनकी राय पार्टी से अलग रही है। सिर्फ इतना ही नहीं, कई बार Kumar Vishwas पार्टी में भ्रष्टाचार होने के भी आरोप लगा चुके हैं। तो यह भी उन्हें टिकट ना मिलने का एक बड़ा कारण माना जा रहा है।




इस सब के बाद Kumar Vishwas ने सामने आकर इस मुद्दे पर खुलकर बात की। उन्होंने इस मुद्दे पर ख़ुलकर अपनी नारजगी जताई। पूरा देखें वीडियो -


अब इस सब के बीच यह देखना दिलचस्प होगा कि Kumar Vishwas अब अगला कदम क्या उठाते हैं और अरविन्द केजरीवाल इस मुद्दे पर क्या कहते हैं।

और ज्यादा ख़बरों के लिए रोज़ाना हमारी वेबसाइट को विजिट करें। आसान एक्सेस के लिए Ctrl + D दबा कर आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क भी ऐड कर सकते हैं।

No comments: